हे भारत के राम जगो He Bharat Ke Ram Jago

हे भारत के राम जगो He Bharat Ke Ram Jago

हे भारत के राम जगो He Bharat Ke Ram Jago फिल्म कलाकार : आशुतोष राणा जी ashutosh rana की यह कविता शरीर में जोश जगा देने वाली और शरीर के रोम रोम में देशभक्ति जगा देने वाली कविता है. पूरी कविता पढने के बाद सच में पूरा का पूरा मन,तन, … Read more

गांव और शहर की जिंदगी पर कविता Gav aur shahar Kavita

gav aur shahar

गांव और शहर की जिंदगी पर कविता Gav aur shahar Kavita गांव और शहर की जिंदगी पर कविता Gav aur shahar Kavita इस कविता में हर तरफ अब शहरीकरण बढ़ता जा रहा है वैसे-वैसे ही लोगों का मानसिक स्तर भी नीचे गिरता जा रहा है गांव और शहर की जिंदगी … Read more

सुनो ना मारो इस नन्ही कलि को suno na maro is nanhi kali ko

सुनो ना मारो इस नन्ही कलि को suno na maro is nanhi kali ko एक औरत गर्भ से थी पति को जब पता लगा की कोख में बेटी हैं तो वो उसका गर्भपात करवाना चाहते हैं दुःखी होकर पत्नी अपने पति से क्या कहती हैं :- सुनो, ना मारो इस … Read more

वाह रे जमाने तेरी हद हो गई Vah re jamane teri had ho gai

वाह रे जमाने तेरी हद हो गई Vah re jamane teri had ho gai

वाह रे जमाने तेरी हद हो गई Vah re jamane teri had ho gai वाह रे जमाने तेरी हद हो गई : मातृ दिवस Mothers Day पर यह कविता एक बार जरुर पढ़ें. और अगर इस कविता के अनुसार कही बाते है तो Mothers Day मनाना व्यर्थ है. वाह रे … Read more

क्यों म से मंदिर म से मस्जिद Mandir Masjid Kavita

क्यों म से मंदिर म से मस्जिद Mandir Masjid Kavita क्यों म से मंदिर म से मस्जिद Mandir Masjid Kavita न जाने क्यों हिन्दू मुस्लिम में इतनी खाइयां है, दोनों तो एक ही माँ की परछाइयां है. ‘म’ से मंदिर बने या बने मस्जिद, ‘र’ से रहीम या रहे राम, … Read more