वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence1
वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence1

वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

वाक्यों का वर्गीकरण दो प्रकार से होता है

१. रचना या स्वरुप के आधार पर

२. अर्थ के आधार पर. अधिक जानकारी के लिए दिए हुए लिंक पर जाये

वाक्य रचना के अनुसार वाक्य के तीन प्रकार है.

१. सरल वाक्य (साधारण वाक्य)

२. मिश्र वाक्य

३. संयुक्त वाक्य

वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence
वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

सरल वाक्य: जिस वाक्य में एक उद्देश्य और एक विधेय हो उसे सरल वाक्य कहते है. तथा ऐसे वाक्य में एक कर्ता और एक क्रिया होती है.

जैसे : १.वह खाना खाता है.

२.कविता विद्यालय जाती है.

३.राधिका किताब पढ़ रही है.

४.आदित्य खेल रहा है.

५.आस्था सुबह से खेल रही है.

उपर्युक्त सभी वाक्यों में एक कर्ता है और एक क्रिया है. अत: आप इसे सरल वाक्य कह सकते है.

२. मिश्र वाक्य : ऐसे वाक्यों में एक साधारण वाक्य के अतिरिक्त उसके अधीन कोई एनी उपवाक्य हो तो उसे मिश्र वाक्य कहते है. ऐसे वाक्यों में सामान्यत: दो वाक्यों को जोड़ने के लिए “कि, जैसे -तैसे, ज्यों त्यों, जब तब. जहाँ तहां, क्यूंकि” वाले शब्द का प्रयोग किया जाता है.

जैसे : १. यह वही मकान है जहाँ हम रहा करते थे.

२. जो लोग अच्छी संगती में रहते है वे सदाचारी होते है.

३. जैसे ही बरसात हुए मोहन ने छतरी खोल लिया.

४. पेड़ लगाना चाहिए क्योकि पर्यावरण सुरक्षित रहेगा.

५. खाना खा कर लेटा कि पेट में दर्द होने लगा.

उपर्युक्त सभी वाक्यों में प्रथम वाक्य दुसरे उपवाक्य पर निर्भर है. पहला वाक्य दुसरे वाक्य के बिना अर्थहीन है.

३. संयुक्त वाक्य : जिस वाक्य में एक से अधिक प्रधान उपवाक्य हो तथा ज्यादातर वाक्य मेल संयोजक से जुडा हो उसे संयुक्त वाक्य कहते है.

मेल संयोजक शब्द : और, तथं या, किन्तु, अथवा, पर (,)-कॉमा, इसलिए,

जैसे : १. शहर भर में भारी हड़ताल होगी और लाखों कि संख्या में लोग जुलुस में सह भाग होंगे.

२. सुबह हो गयी और पक्षी कलरव करने लगे.

३. छुट्टीयां हुई और बच्चों शोर मचाने लगे.

४. वह बाजार गया, बच्चों के साथ खेलने लगा.

५. बच्चे पढ़ाई नहीं करते है इसलिए वह परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो जाते है.

उपर्युक्त सभी वाक्यों में दो दो वाक्य है और दोनों वाक्य स्वतंत्र है. एक दुसरे वाक्य पर आश्रित नहीं है. तथा दोनों वाक्यों को मेल संयोजक से जोड़ा गया है.

वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

सरल वाक्य मिश्र वाक्य संयुक्त वाक्य
बच्चे कक्षा में शरारत करने के लिए उन्हें मार खानी पड़ीबच्चों मार खानी पड़ी क्यूंकि उन्होंने शरारत की. बच्चों ने शरारत किये इसलिए उन्हें मार खानी पड़ी
सूर्योदय होते ही पक्षी चचाहाने लगेजब सूर्योदय हुआ तब पक्षी चचाहाने लगे. सूर्योदय हुआ औरपक्षी चचाहने ने लगे
चन्दन बजार जाकर सब्जी ख़रीदाजब चन्दन बाजार आया तब सज्बी ख़रीदा. चन्दन बाजार गया और सब्जी ख़रीदा.
होली के त्यौहार आते ही बच्चे खुश हो जाते है.ज्योही होली का त्यौहार आया, बच्चों के चहरे खिल जाते है. होली का त्यौहार आया और बच्चो के चहरे खिल उठे.
वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence

***************************************************

आपने इस post वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

1 thought on “वाक्य के भेद Vakya ke bhed Types of Sentence”

Leave a Comment