शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India

शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India hindi me nibandh

शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India
शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India

हमारे देश के शहीद वीरों और हमारा देश भारत यह एक निबंध/ भाषण है. जिसमे एक सामान्य व्यक्ति का देश के प्रति क्या कर्तव्य होता है यह बताया गया है.

इसे शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India कक्षा नव वीं की एक छात्रा ने २६/११ की शाम कार्क्रम में लोगो को संबोधित करते हुए बोली थी

शहीद हुए देश के सभी वीरों को मै हाथ जोड़कर नमन करती हु.

आदरणीय सभी ज्येष्ठ मेहमान, नगर वासी और मेरे प्यारे भाइयो और बहनों, आज मुंबई हमले में शहीद हुए सिपाहियों की ११वी बरसी पर हम और हमारे देश के प्रति हमारा कर्तव्य क्या बनता है इसपर मै अपने विचार आप सभी के सामने रख रही हु.

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।

इस तरह की भावना लिए देश का हर सैनिक सर पर कफ़न बांधे घूमते है, ‘शहीद’ शब्द को सुनते ही मन दहल उठता है सोचता हु उस माँ के बारे में , उस बहन, उस भाई, उस पिता के बारे में, उस औरत के बारे में जो अपना घर बार छोड़ कर एक फौजी के घर आती है. अजीब है न हम सब यहाँ कितने आसानी से अपनी रोज मर्रा के काम में अपना जीवन जीते है. पर सोचों उस घर का क्या होता होगा जिसके घर का सदस्य सीमा पर तैनात रहता है उसे खुद नहीं पता होता कब दुश्मन की अगली गोली उसे मौत के घाट उतार देगी.

और हमारा क्या है? वह हमारे घर से थोड़ी ना था, पर याद रहे उसी के कारण हम यहाँ हस बोल रहे है वह नवम्बर २००८ की काली रात जिसमे हेमंत करकरे , विजय सालसकर, अशोक कामते, संदीप उन्नीकृष्णन, तुकाराम ऑमले जैसे वीरों ने हसते हसते हम सब मुंबई वासी की जान को बचाते बचाते शहीद हो गए. देश पर जब जब भी बुरे वक्त आये तब इन जैसे महान वीरों ने देश को अपना जीवन समर्पित किया. किसी कवि ने ठीक ही कहा है,

धरा जब जब विकल होती मुसीबत का समय आता,

किसी भी रूप में कोई महा मानव चला आता.

शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India

हम इन शहीदों का ऋण मरते दम तक नहीं चूका सकते. इन्होने अपने कर्तव्यों को निस्वार्थ भाव से पूरा किये पर क्या हम अपने कर्तव्यों को पूरा करते है, बिलकुल नहीं देश को सुरक्षित सिर्फ सीमा पर रह कर ही नही किया जा सकता हमें देश के अन्दर भी समाज के प्रति हमें अपने कर्तव्य ,एक जुटता, भाईचारा, आपसी मेल, रखना होगा.

उन तमाम बातों से दुरी बनाये रखनी हो गी जो देश की एकता और अखंडता में बाधक हो, हमें मिलकर देश के सबसे बड़ी समस्या गरीबी, बेरोजगार, अशिक्षा, प्रदुषण, आपसी द्वेष, कट्टरवादिता, जैसे भयावह समस्याओं को दूर करना होगा यही हमारा मौलिक कर्तव्य है और जिस तरह से हमारे ये शुर वीर बाहरी आतंकी जैसे कीडेमकोडे का पेस्ट कंट्रोल करते है ठीक हमें हमारे हिस्से का गरीबी, बेरोजगार, अशिक्षा, प्रदुषण जैसे कीडेमकोडे का पेस्ट कंट्रोल करना होगा. तब जाकर एक उन्नत, विकसित, और सपनो का भारत बना पाएंगे.

अंत में मै इतना ही कहना चाहूँगा

भारत भूमि के वंदन हित,

राष्ट्रदेव के अभिनन्दन हित,

जन जन में चेतना जगाये, चलो आज हम दीप जलाये.

इस निबंध शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India में बहुत से कवियों के कविताओ की कुछ पंक्तियाँ लिए गए है मैं उन सब का आभार व्यक्त करता हुआ. 

*****************************************************

आपने इस post शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

2 thoughts on “शहीद वीर और हमारा देश भारत Shahid Veer and India”

Leave a Comment