हिंदी व्याकरण : छंद-दोहा, चौपाई, सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran

दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran

दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran
दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran

हिंदी व्याकरण : छंद- दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran

दोहा:

लक्षण :

  • यह एक अर्ध सम मात्रिक छंद है.
  • इस के चार चरण होते है.
  • पहले और तीसरे चरण में १३-१३ मात्राए होती है.
  • दुसरे और चौथे चरण में ११ -११ मात्राए होती है.
  • चरण के अंत में तुकबंदी होती है.

मात्राए गिनती करने का तरीका : बिना मात्रा वाले अक्षर, अथवा छोटी मात्रा वाले अक्षर को १ (I) मात्रा मानेंगे. तथा बड़ी मात्रा वाले अक्षर में २ (S) मात्रा लगायेंगे.

छोटी मात्राये : ि , ु ,

बड़ी मात्रा : ा, ी , ू , ेे, ैै, ो, ौ, ंं, ः .

१ मात्रा को (I) से तथा २ मात्रा को (S) से दर्शाते है.

हिंदी व्याकरण अलंकार Alankar Hindi Grammar को पढने के लिए आप यहाँ क्लिक करे.

उदहारण:

I I I I S S S I S =13

रहिमन धागा प्रेम का, १३ मात्राए है

I I S S I I S I =11

मत तोड़ो चटकाय, ११ मात्राए है

S S S I I I S S = 13

टूटे से फिर न जुड़े, १३ मात्राए है

I S SI I I S I =11

जुड़े गाँठ परिजाय. ११ मात्राए है

आपको ऐसे असंख्य दोहे मिल जायेंगे, पर ध्यान रहे कुछ दोहे ऐसे भी है जिनमे मात्रा के अंकन में गलतियाँ हो सकती है.

यदि आपको बुक पढने का शौक है तो इस पुस्तक को जरुर खरीदें. Man’s Search For Meaning: The classic tribute to hope from the Holocaust

चौपाई:

लक्षण :

  • यह एक सम मात्रिक छंद है.
  • इस के चार चरण होते है.
  • प्रत्येक चरण में १६-१६ मात्राए होती है.
  • चरण के अंत में तुकबंदी होती है.

I I I I S I S I II S I I =16

जय हनुमान ज्ञान गुण सागर,

I I I S I I S S I I S I I = 16

जय कपीस तिहुँँ लोक उजागर.

S I S I I I I I I I S S=16

रामदूत अतुलित बल धामा,

S I S I I I I I II S S= 16

अंजनी पुत्र पवन सुत नामा.

आपको ऐसे असंख्य चौपाई मिल जायेंगे, पर ध्यान रहे मात्रा का अंकन सही से करें.

सोरठा

लक्षण :

  • यह एक अर्ध सम मात्रिक छंद है.
  • इस के चार चरण होते है.
  • पहले और तीसरे चरण में ११-११ मात्राए होती है.
  • दुसरे और चुठे चरण में १३ -१३ मात्राए होती है.
  • चरण के अंत में तुकबंदी होती है.

उदहारण:

I I S I I S I I I =11

सुनि केवट के बयन,

S I I S S I I I S = 13

प्रेम लपेटे अटपटे,

I I S I I S I I I= 11

बिहँसे करुणा अयन,

I I I S I S I I I I I= 13

चितइ जानकी लखन तन

आपको ऐसे असंख्य सोरठा  मिल जायेंगे, पर ध्यान रहे सोरठा को दोहे का उल्टा भी कहा जाता है और यह सिर्फ उसके मात्रा के अंकन के कारण कहते है. तो यह नहीं की आप दोहे हो ही उल्टा लिख कर सोरठा बता दे, ऐसा नहीं करना है.

हिंदी व्याकरण : छंद- दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran को बहुत से परीक्षा में 1 या २ अंको के लिए पूछा जाता है तो इसका अध्ययन ठीक से करें. दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran जैसे व्याकरण के और भी विभिन्न उदाहरण को देखें.

********************************************************

आपने इस post हिंदी व्याकरण : छंद- दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है छंद- दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको छंद- दोहा चौपाई सोरठा Doha Chaupai Sortha Chhand Hindi Vyakaran की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

Leave a Comment