जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

Table of Contents

जादुई चक्की jaduee Chakki Ki Kahani
जादुई चक्की jaduee Chakki Ki Kahani

Khara Pani Ki Kahani

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

एक रामपुर नामक गाँव में अनिल और सुनील दो भाई रहते थे। अनिल बहुत आमिर और सुनील भाई बहुत गरीब था। दोनों भाई अलग -अलग रहते थे। अनिल मज़े से खाता- पीता और सुनील गरीब होने के कारण उस के खाने की भी लाले थे। सुनील भले ही गरीब था पर इमानदार था.
एक बार सुनील जंगल से आ रहा था ,तभी कोई बुजुर्ग व्यक्ति वहाँ लकड़ी का बोझ धो रहा था। सुनील उस बुजुर्ग को देखकर तुरन्त उनके पास गया और उनका बोझ अपने सर ले लिया। और उनके घर पहुँचा दिया।

सुनील की ईमानदारी देखकर वह बुजुर्ग बहुत खुश हुआ। और उसने एक गुफा बताई जहाँ चार आदमी होगे जिनके पास एक चक्की होगी। उनसे उस को चक्की ले लेना। उनके पास जाकर कहना की पाव रोटी और वे तुम्हे वह चक्की दे देंगे। सुनील बुजुर्ग की बातो को मानकर उस गुफा में जाता है। वहाँ चार व्यक्ति उस चक्की के पास बैठे थे। सुनील उनके सामने पावरोटी कहा उन्होंने वह चक्की को सुनील को दे दिया और कहा की इस चक्की के सामने जो कहो गे वो मिलेगा वस्तू मिलने के बाद उस पर लाल कपड़ा दाल देना।


एक शेर और एक गीदड़ Ek sher aur gidad ki kahani इस कहानी को यहाँ से पढ़े

अगर आप upsc की तयारी में लगे है इस बुक को जरुर आजमाए

25 Years UPSC IAS/ IPS Prelims Topic-wise Solved Papers 1 & 2 (1995-2019)


जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

और वह घर पर आया। उसने कहा चक्की चक्की नमक निकाल और नमक का ढेर लग गया। पर उसे अब भी इस घटना पर विश्वास नहीं हुआ तब इसी प्रकार उसने दाल,चावल ,तेल, साबुन आदि चीजे निकाली। वह रोज घर के चीजों के आलावा बाकि जरुरत की वस्तुए निकलता रहा । अब वह कुछ ही दिनों में उसके पास ऐसो आराम की वह सारी चीजें आ गए ।

अब वह अपने पडोस में अपने गाँव में सबसे आमिर हो गया था यहाँ तक की सुनील अपने अनिल भाई से भी आमिर हो गया। अनिल सुनील की कामयाबी को देखकर हैरान हो गया। अनिल को शक हुआ की इसकी कामयाबी अचानक ऐसे कैसे हुयी। रोज वह सुनील के घर बाहर जाकर देखता रहता की वह क्या करता है । एक दिन उसने चक्की को चलाते हुए देखा लिया। और अपने भाई की कामयाबी का पता लगा लिया।

और एक दिन रात को अनिल ने सुनील के घर उस चक्की को चुरा लिया। और अपना घर बार छोड़ कर एक नाव खरीद लिया और अपने पुरे घर के जरुरत के सामान को लेकर नाव पर चढ़ गया।
अनिल की पत्नी अपने मन में कब से कुछ कहने के लिए बेक़रार थी। अच्छा मौका देखकर उसने कहा की एक चक्की के लिए छोड़ दिया अपना पूरा घर बार छोड़ दिए।अब वह पति पत्नी नाव ले कर आगे जाने लगे फिर भी उसकी पत्नी परेशान थी,

आगे जाकर अनिल ने उसकी पत्नी को कुछ बताया अनिल ने कहा की तुम्हे एक एक्साम्प्ले देता हूँ। अनिल ने चक्की पर से लाल कपडा निकाल कर कहा की चक्की चक्की नमक निकाल और नमक का ढेर लगा गया किन्तु अनिल को उसे रोकना नहीं आता था। नमक का ढेर बढ़ते गया और नाव ढूब गई। ऐसा कहते है वह चक्की अभी चल रही तभी तो समुन्द्र का पानी खारा है।

सीख: जादुई चक्की jadui chakki ki kahani : इस कहानी में लालची व्यक्ति अपनी मुसीबत खुद मोल लेता है, और उससे निकल नहीं पता इसलिए कभी लालच नहीं करनी चाहिए.

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani
जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

Khara Pani Ki Kahani

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

raamapur naamak gaanv mein anil aur suneel do bhaee rahate the. anil bahut aamir aur suneel bhaee bahut gareeb tha. donon bhaee alag -alag rahate the. anil maze se khaata- peeta aur suneel gareeb hone ke kaaran us ke khaane kee bhee laale the. suneel bhale hee gareeb tha par imaanadaar tha.
ek baar suneel jangal se aa raha tha, tab koee bujurg vyakti lakadee ka bojh dho raha tha. suneel us bujurg ko dekhakar turant unake paas gaya aur unaka bojh apane sar le liya. aur unake ghar die gae.

suneel kee eemaanadaaree dekhakar vah bujurg bahut khush hua. aur usane ek gupha bataee jahaan chaar aadamee maare gae jinake paas ek chakkee hogee. unhen kondar le lena. unake paas jaakar kahana kee paav kee rotee aur ve tumhen khaenge. suneel bujurg kee baato ko maanakar us gupha mein jaata hai. vahaan chaar vyakti usandar ke paas baithe the. suneel ke saamane unake paavarotee ne kaha ki vah chakkee ko suneel ko de diya aur kaha kee is chakkee ke saamane jo kaho ge vo milega vastoo milane ke baad us par laal kapada daal dena.

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

जादुई चक्की jaduee Chakki Ki Kahani
जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

aur vah ghar aa gaee. usane kaha ki chakkee namak nikaal kar namak ka dher lag gaya. par use ab bhee is ghatana par vishvaas nahin hua to isee prakaar usane daal, chaaval, tel, saabun aadi cheeje nikaalee. vah rojaana ghar kee cheejon ke aalaava baaki jaroorat kee vastue nikalata raha. ab vah kuchh hee dinon mein usake paas aiso aaraam kee vah saaree cheejen aa gaee.

ab vah apane pados mein apane gaanv mein sabase aamir ho gaya tha yahaan tak kee suneel apane anil bhaee se bhee sabase aam ho gaee hai. anil suneel kee kaamayaabee ko dekhakar hairaan ho gae. anil ko shak hua kee isakee kaamayaabee achaanak aise kaise huyee. roj vah suneel ke ghar ke baahar jaatee dekhata rahata hai kee vah kya karatee hai. ek din usane chakkee ko chalaane ke lie vahaan dekha. aur apane bhaee kee kaamayaabee ka pata laga liya.

aur ek din raat ko anil ne suneel ke ghar kindar ko chura liya. aur apana ghar baar chhod kar ek naav khareed liya aur apane pure ghar ke jaroorat ke saamaan ko lekar naav par chadh gaya.
anil kee patnee apane man mein kab se kuchh kahane ke lie beqaraar thee. achchha mauka dekhakar usane kaha kee ek chakkee ke lie chhod diya apana poora ghar baar chhod diya.ab vah pati patnee naav le kar aage jaane lage phir bhee usakee patnee pareshaan thee,

aage jaane anil ne usakee patnee ko kuchh bataaya anil ne kaha kee tume ek eks tonik deta hai. anil ne chakkee par se laal kapada nikaal kar kaha kee chakkee mein namak nikaal diya aur namak ka dher laga diya lekin us anil ko use rokana nahin aata tha. namak ka dher badh gaya aur naav dhab gaee. aisa kahana hai ki vah abhee bhee chal raha hai to samundr ka paanee khaara hai.

सीख: जादुई चक्की jadui chakki ki kahani :

is kahaanee mein laalachee vyakti apanee pareshaanee khud mol leta hai, aur usase baahar nahin pata isalie kabhee laalach nahin karana chaahie.

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

जादुई चक्की jadui chakki ki kahani
जादुई चक्की jadui chakki ki kahani

*********************************************

आपने इस post जादुई चक्की jadui chakki ki kahani के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है जादुई चक्की jadui chakki ki kahani इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको जादुई चक्की jadui chakki ki kahani की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

Leave a Comment