first airplane invented Shivkar Bapuji Talpade

first airplane invented Shivkar Bapuji Talpade

Shivkar Babuji Talpade
Shivkar Bapuji Talpade

जन्म : 1864

मृत्यु : 1916

दुनिया का पहला विमान first airplane invented राईट ब्रदर्स ने नहीं अपने गौरव शाली भारत के शिवकर बापूजी तलपडे जी ने बनाये.

शिवकर बापूजी तलपड़े Shivkar Bapuji Talpade , एक भारतीय, मानव रहित हवाई जहाज का निर्माण करने वाले पहले व्यक्ति थे, जिसका नाम “मारुतशका” था, इसका आविष्कार राइट भाइयों से 8 साल पहले हुआ था। उन्होंने वर्ष 1885 में वैदिक ग्रंथों की मदद से एक मर्करी सूजर का आविष्कार किया था। विमान वैदिक विमान की तरह एक अंतर्निहित वोर्टेक्स के साथ बनाया गया था। अपनी पहली उड़ान के दौरान, यह पृथ्वी पर गिरने से पहले कुछ मिनटों के लिए 1500 फीट की ऊंचाई तक उड़ गया। 

इतिहास कभी छुपाई नहीं जा सकती, यह बात एक बार फिर अपने आपको सत्य साबित करती है. आज तक दुनिया ने यही माना की दुनिया का पहला विमान first airplane invented भारत के बाहर किसी और ने बनाया. और इसका एक मात्र श्रेय राइट बंधुओं को जाता रहा. पर सत्य कुछ और ही बयां करती है. 

इतिहास के अनुसार अमेरिका के कैलिफोर्निया में तारीख 17 दिसंबर 1930 को इंसानों ने पहली बार आसमान में उड़ते विमान को देखा था. मगर भारतीय इतिहास और वेंदो में ऐसे बहुत से प्रमाण छुपे है जिनके बल पर भारत एक प्राचीन कालीन व गौरवपूर्ण देश रहा है. राइट बंधुओं से पहले भारत के शिवकर बापूजी तलपड़े जी Shivkar Bapuji Talpade ने विमान बनाकर आसमान में उड़ाया था.

सन 1864 में जन्मे शिवकर बापूजी तलपड़े ने मुंबई के मशहूर सर जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स स्कूल में पढ़ाई की. इसी स्कूल के कला विभाग में तकनीकी शिक्षक भी बने. संस्कृत भाषा में उनकी गहरी रुचि थी और यही वजह थी कि वो अक्सर प्राचीन भारतीय शास्त्रों की तरफ भी मुड़ते रहे.

इस दौरान उड़ते हुए पंछी हमेशा उनका ध्यान खींचते रहे. इस दौरान वो लगातार नई चीजों के बारे में सोचते रहते थे. इसी से प्रेरित होकर इस खोज में लग गए. इसी दौरान तमाम शास्त्रों के अध्यन के बाद महर्षि भारद्वाज द्वारा लिखित ‘वैमानिक शास्त्र’ का अध्ययन कर विमान की रचना की.

Shivkar Babuji Talpade first inventor of airplane
Shivkar Bapuji Talpade

महर्षि भारद्वाज के ‘वैमानिक शास्त्र’ को दुनिया का पहला एयरक्राफ्ट मेन्युअल माना जाता है. जिसके सिद्धांतों के आधार पर एक नहीं कई तरह के विमानों की रचना की जा सकती है. ‘वैमानिक शास्त्र’ में विमान निर्माण से संबंधित 8 अध्याय हैं. इसमें 3 हजार श्लोक दर्ज हैं. 96 खंडों में विमान बनाने की प्रक्रिया मौजूद है. इसके अलावा पाइलट के लिए 32 तरह के सिस्टम की जानकारी होना जरूरी बताया है.

Shivkar Babuji Talpade
Shivkar Bapuji Talpade

माना जाता है कि महर्षि भारद्वाज के इसी वैमानिक शास्त्र से तलपड़े जी को वो जानकारी हासिल हुई जिसके बाद वो मिली जानकारी के अधर पर कागज पर विमान के डिजाइन को उतारे. इसके बाद वो वक्त भी आया जब 1895 में ये डिजाइन कागज से निकलकर जमीन पर उतरा और उसके बाद हवा से बातें करते विमान का निर्माण भी हो गया. जिसका नाम हनुमान जी के मारुती नाम पर अपने विमान का नाम ‘मारुतसखा’ रखे. 

राइट ब्रदर्स से भी उंचा उड़ाया था विमान राइट ब्रदर्स के विमान अविष्कार से कहीं अधिक सक्षम था तलपडे जी Shivkar Bapuji Talpade की “मारुतसखा”….

रिपोर्ट्स और इतिहास के साक्ष्य की माने तो राइट ब्रदर्स से ठीक 8 साल पहले, 1895 में मुंबई के चौपाटी बीच पर तलपडे जी की मारुतसखा ने उड़ान भरी थी. वो भी पूरे 1500 फीट तक. और कानून के महाज्ञाता जस्टिस महादेव गोविंद रानाडे और बड़ौदा के महाराजा सयाजी राव गायकवाड़ इतिहास को बनता देख रहे थे.

क्या आपने यह पढ़ा? इस पढने के लिए क्लिक करें. 21वी सदी का भारत 21st century India Essay

कहा तो ये भी जाता है कि महाराजा सयाजी राव, तलपड़े Shivkar Bapuji Talpade से इतने प्रभावित थे कि लगातार उनकी आर्थिक मदद भी करते थे ताकि वो अपनी रिसर्च में लगे रहें और एक दिन देश का नाम ऊंचा करें. शिवकर बापूजी ने न गायकवाड़ को निराश किया और न ही उस मुल्क को, जिसकी मिट्टी और जिसके प्राचीन ग्रंथों से ही सीखकर वो इस रास्ते पर चले थे जो आसमान में खुलता था. 

तमाम दस्तावेजों की मानें तो ये पूरी घटना ‘पुणे केसरी’ नाम के अखबार ने छापी थी. आज तक ये साफ नहीं हो पाया है कि फ्यूल के तौर पर शिवकर बापूजी तलपड़े ने अपने विमान में क्या इस्तेमाल किया? लेकिन कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि वो लिक्विड मर्करी थी जिसने उस मशीन को 1500 फीट की ऊंचाई तक पहुंचा दिया.

मारुतसखा’ से जुड़े शोध में तलपड़े की पत्नी लक्ष्मीबाई भी उनकी सहयोगी रहीं. दोनों ने एक टीम की तरह काम किया और दुनिया का सबसे पहला विमान बनाने में कामयाबी हासिल की.

vimana
Shivkar Bapuji Talpade

 आज तक का भारत का इतिहास योद्धा, शूरवीरों, महान व्यक्तियो को भूलता आया है. चाहे वह हमारे वेद, उपनिषद या फिर देश के लिए कुछ कर मिटने वाले देशभक्त मंगल पांडे, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चन्द्र बोस ही क्यों न हो. 

******************************************************

आपने इस post first airplane invented Shivkar Bapuji Talpade के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है first airplane invented Shivkar Bapuji Talpade इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको first airplane invented Shivkar Bapuji Talpade की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!