Sachin Tendulkar A God Of Cricket

Sachin Tendulkar A God Of Cricket

Table of Contents

क्यों कहते है सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान

Sachin Tendulkar A God Of Cricket
Sachin Tendulkar A God Of Cricket
sachin tendulkar Sachin Tendulkar A God Of Cricket

Sachin Ramesh Tendulkar

जन्म :Apr 24, 1973

जन्म स्थान: मुंबई , भारत

पिता का नाम: रमेश तेंदुलकर

मा का नाम: रजनी

परिवार : अंजलि (पत्नी) सारा (बेटी) अर्जुन (बेटा)

भारत रत्‍न

sachin bharat Sachin Tendulkar A God Of Cricket

भारत रत्न सचिन तेंदुलकर : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

सचिन तेंदुलकर जी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन को भारत रत्न प्राप्त हुआ है और वह भारत रत्न प्राप्त करने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति भी हैं २०१४ में भारत सरकार द्वारा यह भारत का सर्वोच्च पुरस्कार दिया गया.

वायु सेना सम्मान

sachin navy Sachin Tendulkar A God Of Cricket

Group Captain Sachin Tendulkar

सचिन तेंदुलकर को भारतीय क्रिकेट टीम के ग्रुप कैप्टन के मानद रैंक को उनकी क्रिकेट उपलब्धियों और राष्ट्र में योगदान के सम्मान में प्रदान किया। वह IAF द्वारा रैंक प्राप्त करने वाले पहले खिलाड़ी है.

बल्लेबाजी में सचिन का कमाल …. सचिन … सचिन, सचिन….. सचिन….

MInnNORunsHSAvgBFSR100200504s6s
Test200329331592124853.792943754.0851668205869
ODI463452411842620044.832136786.24491962016195
T20I110101010.01283.3300020
IPL78789233410033.831948119.82101329529
Batting Career Summary

बल्लेबाजी में सचिन कि कोई सानी नहीं तो गेंदबाजी भी किसी से कम नहीं है. : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

MInnBRunsWktsBBIBBMEconAvgSR5W10W
Test20014542402492463/103/143.5354.1792.1700
ODI463270805468501545/325/325.144.4852.320
T20I11151211/121/124.812.015.000
IPL784365800/70/79.670.00.000
Bowling Career Summary

टेस्ट डेब्यू : 15 नवंबर 1989 को नेशनल स्टेडियम में पाकिस्तान बनाम

अंतिम टेस्ट : 14 नवंबर, 2013 को वानखेड़े स्टेडियम में वेस्ट इंडीज

वनडे डेब्यू : बनाम पाकिस्तान जिन्ना स्टेडियम में, दिसम्बर 18, 1989

आखिरी वनडे : बनाम पाकिस्तान में शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम, मार्च 18, 2012

टी 20 डेब्यू : 01 दिसंबर 2006 को द वांडरर्स स्टेडियम में बनाम दक्षिण अफ्रीका

अंतिम टी 20 : 01 दिसंबर 2006 को द वांडरर्स स्टेडियम में बनाम दक्षिण अफ्रीका

आईपीएल का आगाज : 14 मई, 2008 को वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स

अंतिम आईपीएल : 13 मई, 2013 को वानखेड़े स्टेडियम में सनराइजर्स हैदराबाद

सचिन तेंदुलकर से पहले डॉन ब्रेडमेंन को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है, पर खुद सर डॉन ब्रैडमेंन  कहा करते थे सचिन उनसे कहीं ऊपर है.

तो जानते है सचिन क्यों इतना खास बनें : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को दादर, मुंबई के निर्मल नर्सिंग होम में हुआ था। पिता रमेश तेंदुलकर, माँ रजनी, बड़े भाई नितिन व अजीत और उसके बाद उनकी बहन सविता और फिर सचिन इस तरह उनका एक परिवार जो सोचे भी नहीं थे कि उनके परिवार का यह सबसे छोटा सदस्य जो अपनी कद काठी में भी छोटे नाटे कद वाले सचिन उनके परिवार का ही नहीं पुरे देश का क्रिकेट इतिहास में नाम रोशन कर देगा.

सचिन तेंदुलकर के पिता रमेश तेंदुलकर महाराष्ट्र के सबसे प्रसिद्ध उपन्यासकार थे और उनकी माँ रजनी एक बीमा एजेंट थीं। उनके पिता ने सचिन देव बर्मन के नाम पर उनका नाम सचिन रखा था, जोकि उनके पसंदीदा संगीत निर्देशक थे।

24 मई, 1995 के दिन सचिन ने डॉ. अंजलि महेता से शादी की थी, मूल गुजरात की डॉ. अंजलि बालरोग डॉक्टर है। सचिन और अंजलि दोनो पहली बार एयरपोर्ट पर मिले थे, उस वक्त अंजली को सचिन और क्रिकेट दोनों के बारे में कोई ज्यादा जानकारी नही था। सचिन और अंजलि के दो बच्चें है, बड़ी बेटी सारा तेंदुलकर और बेटा अर्जुन तेंदुलकर है।

बेटा अर्जुन तेंदुलकर भी क्रिकेट में हाथ अजमा रहे है पर कहने वाले कहते है बाप और बेटे में जमीन आसमान का फर्क है. बेटा अर्जुन तेंदुलकर अभी तक कुछ खास नहीं कर पाए जो सचिन ने क्रिकेट मैदान में पैर रखते ही कर दिखया था.

सचिन का ग्राउंड पर मिजाज

सचिन ने अपने बचपन के कुछ साल बांदा ईस्ट के साहित्य सहवास सहकारी आवास सोसायटी में व्यतीत किए। सचिन के स्वभाव बचपन और बड़े होने के स्वाभाव में आहूत फर्क है. उनका बचपन स्कूल में लड़ाई करना या स्कूल में पहली बार आने वाले बच्चों का धमकाना पसंद था। तो वहीँ मैदान में कितनी भी खिलाडियों से नोक झोक हुए हो पर वहां हस कर ही उसका सामना किये. कोइ कह ही नहीं सकता कि सचिन कभी गुस्सा हुए हो, शायद कहने वाले यही कहते है वो अपने गुस्से को बड़ी ही शालीनता से गेंदबाज कि गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजकर, चौके छक्के लगा कर दिखाते थे.

क्रिकेट की यात्रा का शुभारंभ

उनके बड़े भाई अजीत तेंदुलकर ने उन्हें क्रिकेट खेलने के लिये प्रोत्साहित किया था।
अजीत ने सचिन के शरारती स्वभाव को बड़ी मुश्किल से छुड़ाया और उन्हें वर्ष 1984 में क्रिकेट के प्रति दिलचस्पी दिखाने पर जोर दिया। उन्होंने सचिन की रमाकांत आचरेकर से भेंट करवाई, जो अपने समय के सबसे प्रसिद्ध क्लब क्रिकेटर के साथ-साथ एक बेहतरीन कोच भी थे। रमाकांत आचरेकर दादर के शिवाजी पार्क में क्रिकेट का अभ्यास करवाते थे।

आचरेकर ने सचिन की प्रतिभा से काफी प्रभावित हुए थे, एक सामान्य कोच कि तरह आचरेकर ने सचिन को सुबह और शाम को स्कूल के बाद अभ्यास कराना शुरू किया। सचिन को प्रेरित करने में आचरेकर एक गुरु के नाते हर तरह से सचिन को तैयार किये आचरेकर सचिन को प्रलोभित करने के लिए स्टंप के शीर्ष पर एक रुपए का सिक्का रख देते थे। रुपया रखने के बाद आचरेकर कहते कि

अगर वह उनको आउट न कर पाएं, तो वह सिक्का उनका हो जाएगा और इस तरह सचिन ने उनसे 13 सिक्के जीते, जिसे आज भी सचिन अपनी सबसे अमूल्य संपत्ति मानते हैं।

रमाकांत आचरेकर

कभी हार न मानने कि ललक : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

सचिन एक गेंदबाज बनना चाहते थे यही कारण है कि वो 14 वर्ष की आयु में मद्रास के एमआरएफ पैस फाउंडेशन में भाग लिया था, लेकिन डेनिस लिली जो इसका देखरेख कर रहे थे वो सचिन की गेंदबाजी से प्रभावित नहीं हुईं और उन्होंने सचिन से कहा कि वह अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करें। इस समय खेल में बेहतर होने के बावजूद भी वह मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के सर्वश्रेष्ठ ज्यूनियर क्रिकेटर अवॉर्ड को जीत नही पाए थे. जिसके करना वह बहुत ही परेशान थे. उन्हें श्री सुनील गावस्कर के अल्ट्रा लाइट पैड की एक जोड़ी मिली, जिसमें लिखा था कि

वह स्वयं भी इस उम्र में यह अवार्ड नहीं जीत पाए थे। युवा प्रतिभा को प्राप्त करने के प्रयास में उन्होंने यह भी कहा कि एक क्रिकेटर के रूप में खुद काफी बेहतर साबित किया है। सचिन ने गावस्कर के 34 वें टेस्ट शतक का रिकार्ड तोड़ने के बाद कहा कि उस समय के उनके वह शब्द मेरे लिए संभवतः सबसे बड़े प्रोत्साहन के रूप में साबित हुए।

सुनील गावस्कर

सचिन कि प्रतिभा का कोई सानी नहीं

वर्ष 1988 सचिन ने अपनी प्रतिभा को दुनिया के सामने परोशने लगे थे, क्योंकि इसमें होने वाले प्रत्येक मैच में उन्होंने शतक लगाया था। सचिन के पूर्व मित्र और टीम इंडिया के सहयोगी विनोद कांबली के साथ मिलकर लॉर्ड्स हैरिस शील्ड इंटरस्कूल प्रतियोगिता में सेंट जेवियर्स के हाई स्कूल के खिलाफ 664 रन की नाबाद भागेदारी की थी।

उस मैच में तेंदुलकर ने 326 रन बनाए थे और उस टूर्नामेंट में 1000 से ज्यादा रन बनाए थे। सचिन का प्रभुत्व ऐसा था कि विपक्षी उनके साथ मैच खेलने से कतराते थे और एक गेंदबाज के लिए वह समय वास्तव में काफी दर्दनाक होता था। उन दोनो लोगों की साझेदारी वर्ष 2006 तक अटूट रही, जब हैदराबाद में आयोजित मैच में कुछ अंडर-13 के बल्लेबाजों ने भाग लिया था।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का पहला अनुभव

सचिन को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का पहला अनुभव सीसीआई की स्वर्ण जयंती समारोह के रूप में मुंबई में ब्रेबोर्न स्टेडियम में आयोजित खेल में इमरान खान कि टीम में एक चैरिटी मैच खेलना था. जब वर्ष 1987 में मुंबई में भारत और इंग्लैंड के बीच विश्वकप का सेमीफाइनल मैच खेला गया, तो उसमें सचिन ने गेंदबाज की भूमिका निभाई थी।

इसी मैच में एक घटना जो सचिन अपने बुक में जिक्र करते है जावेद मियांदाद और अब्दुल कादिर लंच के मैदान छोड़कर चले गए थे और सचिन को फिल्डिंग करने के लिए कहा गया। इमरान खान ने उसे लॉन्ग ऑन पर फिल्डिंग के लिए लगाया, उसके तुरंत बाद कपिल देव ने सचिन की ओर एक जोरदार शॉट मारा। 15 मीटर दोड़ने के बाद भी सचिन बॉल तक नहीं पहुंच पाए। बाद में सचिन ने अपने दोस्त को बताया, मैं कैच ले सकता था अगर मुझे लॉन्ग ऑन से हटाकर मिड ऑन पर फिल्डिंग के लिए लगाया गया होता।

सचिन ने यह खुलासा हाल ही में लॉन्च की गई अपनी आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माई वे’ में की। सचिन ने अपनी किताब में लिखा,

मुझे नहीं पता, इमरान खान को यह याद होगा कि नहीं मैंने एक बार पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए फिल्डिंग की थी।

सचिन तेंदुलकर

सचिन के क्रिकेट जीवन कि कुछ रोचक घटना जो हमें और भी अधिक मोटीवेट करती है : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

16 साल की उम्र में 15 नवंबर 1989, दिन-बुधवार, जगह- नेशनल स्टेडियम, कराची में पाकिस्तान के विरुद्ध होने वाले मैच में चुने गए थे और पाकिस्तान मजबूत तेज गेंदबाजी के आक्रमण के कारण, उस समय की सबसे खतरनाक टीमों में से एक थी। सचिन ने अपना पहला टेस्ट मैच में 24 गेंदों का सामना किया और दो चौकों की मदद से 15 रन बनाए। सचिन ने अपना पहला वनडे मैच में बिना किसी रन बनाए महज 2 गेंद खेलकर ही आउट हो गए थे। सचिन ने जब डेब्यु किया था कौन कह सकता है कि सचिन अपने जीवन के पहले मैच में इतनी बुरी तरह से आउट होंगे.

इसी पाकिस्तान सीरीज में ५वां मैच था, यह मैच में जो वाक्या हुआ वह सच में अविश्वसनीय और रोंगटे खड़े कर देने वाला था. कहते कि भारत के कुछ विकेट गिर चुके थे और नवजोत सिंह सिद्धू साथ में थे तब एक छोटे कद वाले सबसे कम उम्र वाले सचिन जब ग्राउंड पर बल्लेबाजी करने गए जब उन्हें पाकिस्तानी वकार युनिश जो उस समय के सबसे खतरनाक गेंदबाज थे उसने पहली गेंद डाली वह गेंद सीधे उनके मुंह पर जाकर लगा. खून निकलने लगा डोक्टरों को बुलाया गया और उन्हें आराम करने के लिए कहा गया लेकिन उन्होंने खेलने कि जिद कर दी उन्होंने कहा मै खेलगा और वह खेले भी.

इस घटना का जिक्र आप संदीप महेश्वरी जी कि जुबानी सुनेगे तब सचिन को अपने जीवन में उतारने जैसा लगेगा..

Motivational story From Sachin Tendulkar A God Of Cricket By Sandeep Maheshwari!!!

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने उस दौर के बाकी खिलाड़ियों से अलग पहचान बना ली थी। : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

सेन वार्न अपने एक इंटरव्यू में जब शारजा में मैच हुआ था उसकी जिक्र करते हुए कहते है कि सचिन तो अब मेरे सपने में भी आने लगे है, दरअसल इस सीरिज में सचिन किसी और गेदबाज को छोड़ दें और सेन्वार्न कि बात करें तो इनके गेंद पर ढेरों चौके छक्के लागाये थे जैसे मानो वह मैच देखने वालों के पैसे वसूल हो गए हो.

ऐसी अनगिनत बातें है जो सचिन से जुड़े खिलाडियों ने समय समय पर बयां किये चाहे वह शोएब अक्तर , सहवाग, सचिन कि लेलो या फिर वर्ल्ड कप के दौरान युवराज सिंह का खेल समर्पण सचिन के लिए, चाहे सौरभ और सचिन का किसी भी मैच में ओपनिंग करना सभी अपने आप में एकमहान खिलाडी कि प्रतिभा को दर्शाता है.

सचिन ने अपने जीवन में जिन खिलाडियों के साथ खेला वो क्या कहते है उनके बारे में… : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा सचिन तेंदुलकर बने

Brian Lara

हम एक टीम से नहीं हारे जिसे इंडिया कहते हैं हम एक इंसान से हारे जीते सचिन कहते हैं

mark taylor

हमारी साथ कुछ बुरा नहीं हो सकता अगर हम इंडिया में एक हवाई जहाज में हो जिस पर सचिन तेंदुलकर सवार हो

hashim amla

वह वाकिंग स्टिक से भी लेग ग्लांस लगा सकते हैं

vakar yunus

दुनिया में दो तरह के बल्लेबाज हैं पहला सचिन तेंदुलकर दूसरा बाकी सभी

andy flower

मैने भगवान को देखा है वह टेस्ट मैचों में इंडिया की तरफ से नंबर चार पर बैटिंग करते हैं

matthew hayden

जब मैं सचिन को बैटिंग करते देखता हूं तो मैं खुद को देखता हूं

don bradman

अपराध तब करो जब सचिन बैटिंग कर रहा हूं क्योंकि भगवान भी तब उसकी बैटिंग देखने में व्यस्त होते हैं

Australian audience

मैं क्रिकेट के बारे में नहीं जानता पर फिर भी मैं सचिन को खेलते हुए देखने के लिए क्रिकेट देखता हूं इसलिए नहीं कि मुझे उसका खेल पसंद है बल्कि इसलिए क्योंकि मैं जानना चाहता हूं कि आखिर जब वह बैटिंग करता है तो मेरे देश का प्रोडक्शन पांच परसेंट गिर जाता है

barack obama

उसे खराब गेंद न दे वह तो अच्छी गेंदों पर चौका मारता है

michael kasprowicz

अगर मेरे नाती पोते इस सच्चाई को ना भी याद रखें कि मैंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन बनाए लेकिन इसके बारे में जरूर बात करेंगे कि मैं सचिन तेंदुलकर का टीम मेंट था

rahul dravid

आप उसे आउट कर दीजिए और आप आधी जंग जीत लेते हैं

arjun ranatunga

मैंने सचिन की बैटिंग देखने के लिए कई बार अपने शूट डिले किए हैं amitabh bacchan

amitabh bacchan

तेंदुलकर ने 21 साल तक देश की उम्मीदों का बोझ उठाया है समय आ गया है कि हम उसे अपने कंधों पर उठाये

virat kohali

इंडिया में आप प्राइम मिनिस्टर को एक बार कठघरे में खड़ा कर सकते हैं सचिन तेंदुलकर पर उंगली नहीं उठा सकते

navjot singh siddhu

अगर सचिन अच्छे से बैटिंग करता है तो भारत अच्छे से सोता है

harsha bhogle

वह इतने समय तक फॉर्म में रहा है जितना कि हमारे कुछ खिलाड़ियों की उम्र तक नहीं है

denial vetory

इतने महान खिलाड़ी से हारने में कोई शर्म नहीं है

stew wagh

हमने चैंपियंस देखे हमने लेजेंस देखे लेकिन हमने कभी भी दूसरा सचिन तेंदुलकर नहीं देखा और ना हम कभी देख पाएंगे

time magazine

सचिन वह इंसान जो हम सब बनना चाहते हैं

andrew symonds

मैंने तो डॉन को नहीं देखा लेकिन मेरे लिए जितने भी सालों से मैं इस गेम से जुड़ा हूं मैंने सचिन तेंदुलकर से बेहतर बल्लेबाज नहीं देखा

Sir Viv Richards

सचिन जैसे क्रिकेटर जीवन में एक बार आते हैं और मैं भाग्यशाली हूं कि वह मेरे समय में खेला

wasim akram

Achievements of Sachin Tendulkar

sachin ten Sachin Tendulkar A God Of Cricket

कैरियर और वार्षिक पुरस्कार : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

वह एक एकल एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में दोहरा शतक (200 रन नाबाद) बनाने वाले खेल के पहले बल्लेबाज थे , और अब तक अंतरराष्ट्रीय में 100 शतक लगाने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं । उन्होंने 26 साल और एक दिन के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला , जबकि उनका अंतर्राष्ट्रीय करियर 15 नवंबर 1989 से 16 नवंबर 2013 तक 24 साल का था।

  • 1994 : क्रिकेट में उपलब्धियों के लिए अर्जुन पुरस्कार प्राप्तकर्ता
  • 1997 : तेंदुलकर उन पांच क्रिकेटरों में से एक थे जिन्हें विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुना गया था।
  • 1997/98: India’s highest sporting honour – Rajiv Gandhi Khel Ratna
  • 1999 : पद्म श्री – भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
  • 2001 : महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार – महाराष्ट्र का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
  • 2008: Padma Vibhushan – India’s second-highest civilian award
  • 2010 : आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर – आईसीसी लिस्टिंग में सबसे ऊंचा पुरस्कार
  • 2010 : एलजी पीपुल्स च्वाइस अवार्ड
  • आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट इलेवन : 2009, 2010, 2011
  • ICC वर्ल्ड ODI XI : 2004, 2007, 2010
  • वर्ल्ड 1998, 2010 में विजडन लीडिंग क्रिकेटर
  • सफीगिरी में सबसे प्रभावी स्वचेता राजदूत पुरस्कार – 2019
  • 2020 : लॉरियस वर्ल्ड स्पोर्ट्स अवार्ड्स – स्पोर्टिंग मोमेंट ऑफ़ द इयर (2000-2020)

मीडिया से पुरस्कार

  • अगस्त 2003 में, उन्हें ज़ी न्यूज़ द्वारा आयोजित बेस्ट ऑफ़ इंडिया पोल में खेल हस्तियों की श्रेणी में देश के “महानतम खिलाड़ी” के रूप में चुना गया था ।
  • नवंबर 2006 में, टाइम पत्रिका ने उन्हें एशियाई नायकों में से एक के रूप में नामित किया।
  • दिसंबर 2006 में, उन्हें “स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ द ईयर” नामित किया गया था।
  • जून 2009 में, टाइम पत्रिका ने “टॉप 10 स्पोर्टिंग मोमेंट्स” में अपने टेस्ट डेब्यू को शामिल किया।
  • 2010 में, उन्हें टाइम पत्रिका द्वारा आयोजित “द 2010 टाइम 100” पोल में दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक के रूप में चुना गया था ।
  • द टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा चलाए गए वर्तमान इंडिया पॉइज़्ड अभियान ने उन्हें अमर्त्य सेन और महात्मा गांधी की पसंद के बगल में “फेस ऑफ़ न्यू इंडिया” के रूप में नामित किया है ।
  • फरवरी 2010 में, उन्हें NDTV इंडियन ऑफ़ द ईयर अवार्ड्स में “21 साल के लिए स्पोर्ट्स आइकन ऑफ़ द ईयर” घोषित किया गया ।

व्यक्तिगत मैचों और श्रृंखला के लिए पुरस्कार
मुख्य लेख: सचिन तेंदुलकर के लिए एकदिवसीय पुरस्कारों की सूची

तेंदुलकर ने एकदिवसीय मैचों में रिकॉर्ड 15 मैन ऑफ़ द सीरीज़ (MoS) और 62 मैन ऑफ़ द मैच (MoM) पुरस्कार जीते हैं । उन्होंने ICC के पूर्ण सदस्यों (टेस्ट प्लेइंग नेशंस) में से प्रत्येक के खिलाफ मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता है । एकमात्र ऐसी टीमें जिनके खिलाफ उन्होंने एकदिवसीय मैन ऑफ द मैच पुरस्कार नहीं जीता है, वे संयुक्त अरब अमीरात (2 मैच खेले गए), नीदरलैंड (1 मैच) और बरमूडा (1 मैच) हैं।

मैन ऑफ द मैच पुरस्कार : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

एस नहीं प्रतिद्वंद्वी स्थान मौसम मैच का प्रदर्शन
1इंगलैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर1990पहली पारी: 68 (8 × 4); 2 कैच 2 इनिंग्स: 1224 (17 × 4)
2इंगलैंडचेपॉक, चेन्नई में1992-1993पहली पारी: 165 (24 × 4, 1 × 6); 2–5-5-0 दूसरी पारी: 2 कैच; 2-1-4-0
3न्यूजीलैंडचेपक, चेन्नई1995-1996पहली पारी: 52 (5 × 4)
4ऑस्ट्रेलियाचेपक, चेन्नई1997-1998पहली पारी: 4 (1 × 4); 1 कैच
2 इनिंग्स: 155 (14 × 4, 4 × 6)
5पाकिस्तानचेपक, चेन्नई1998-1999पहली पारी: 0; 3–0–10–1
दूसरी पारी: 136 (18 × 4); 7-1-35-2
6न्यूजीलैंडMotera, Ahmedabad1999-1900पहली पारी: 217 (29 × 4)
दूसरी पारी: 15 (3 × 4); 5-2-19-0
7ऑस्ट्रेलियाएमसीजी, मेलबर्न1999-1900पहली पारी: 116 (9 × 4, 1 × 6)
दूसरी पारी: 52 (4 × 4)
8दक्षिण अफ्रीकावानखेड़े, मुंबई1999-1900पहली पारी: 97 (12 × 4, 2 × 6); ५-१-१०-३
दूसरी पारी: – (२ × ४); 1-0-4-0
9वेस्ट इंडीजईडन गार्डन , कोलकाता2002/03पहली पारी: 36 (7 × 4); 7–0–33–0
दूसरी पारी: 176 (26 × 4)
10ऑस्ट्रेलियाएससीजी, सिडनी2003/04पहली पारी: 241 (33 × 4)
दूसरी पारी: 60 (5 × 4); 6-0-36-0; 1 पकड़ो
1 1ऑस्ट्रेलियाएडिलेड2007/09पहली पारी: 153
दूसरी पारी: 13
12न्यूजीलैंडहैमिल्टन2009पहली पारी: 160
दूसरी पारी: डीएनबी

मैन ऑफ़ द सीरीज़ पुरस्कार

S.noमौसमश्रृंखलाप्रदर्शन
1बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी ( भारत टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया )1997-1998446 रन (5 इनिंग्स, 2 × 100, 1 × 50); 13.2-1-48-1; 2 कैच
2बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी ( ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में भारत )1999-1900278 रन (6 इनिंग्स, 1 × 100, 2 × 50); 9-0-46-1
3भारत टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड2001/02307 रन (4 इनिंग्स, 1 × 100, 2 × 50); 17-3-50-1; 4 कैच
4भारत बांग्लादेश टेस्ट सीरीज़ में2007254 रन (3 इनिंग्स, 2 × 100); 13.3-1-57-3; 4 कैच [15]
5बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी ( भारत टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया )2010403 रन (4 इनिंग्स, 1 × 100, 2 × 50);

विपक्ष द्वारा कुल मैन ऑफ़ द मैच पुरस्कार Man of the Match of Sachin Tendulkar : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

#प्रतिद्वंद्वीटोटल मैन ऑफ मैचकुल खेल होमकुल खेल दूरकुल खेल तटस्थ
1ऑस्ट्रेलिया (154 मैच)21601855
2बांग्लादेश (30 मैच)1809101 1
3इंग्लैंड (170 मैच)29851640
4न्यूजीलैंड (12 मैच)6420
5पाकिस्तान (66 मैच)18225515
6दक्षिण अफ्रीका (57 मैच)5410
7श्रीलंका (84 मैच)6123
8वेस्टइंडीज (39 मैच)9315
9जिम्बाब्वे (34 मैच)8044
10केन्या (10 मैच)4202
1 1नामीबिया (1 मैच)1001
कुल (463 एकदिवसीय मैच)125231326 

सचिन और उनके जीवन के अनछुई बातें. Life of Sachin Tendulkar- Fact

  • इन्हें बचपन में लॉग टेनिस का बहुत शौक था और जोन मकएनरोए को ये अपना आदर्श मानते है
  • शारदा श्रम स्कूल में विनोद कांबली सचिन घनिष्ठ मित्र थे , दोनों के क्रिकेट का सफ़र यही से शुरू हुआ था और इस बुलंदी तक पहुंचा.
  • क्रिकेट के आलावा इनका मुंबई के कोलाबा में एक रेस्टारेंट भी है जिसका नाम तेदुल्कर्स रेस्टोरेंट है .
  • इन्होंने प्रेम विवाह किया, इन्हें पहली नजर में ही प्यार हो गया था, इनकी वाइफ उनसे उम्र में 6 साल बड़ी है .
  • थर्ड अंपायर द्वारा आउट दिए जाने वाले पहले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर हैं।
  • सचिन तेंदुलकर को परफ्यूम और घड़ियां जमा करने का शौक है।
  • ये अपने दाहिने हाथ से बेट और बॉल का इस्तमाल करते है और अपने बाहिने हाथ से लिखने का कार्य करते है
  • मात्र 14 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर मुंबई की रणजी टीम में शामिल हुए वो सबसे कम उम्र में Ranji Team में शामिल होने वाले खिलाड़ी थे।
  • सचिन के नाम लगातार 185 वनडे मैच खेलने का रिकॉर्ड है
  • 2008 में लंदन के मेडम तुस्सांड्स के संग्रहालय में इनका वेक्स का पुतला बनया गया
  • सचिन तेंदुलकर 1.5 किलोग्राम वाले बैट से खेलते थे इतना बारी बल्ला उनके अलावा दक्षिण अफ्रीका के लांस क्लूजनर इस्तेमाल करते थे।
  • सचिन तेंदुलकर राज्यसभा के लिए मनोनीत होने वाले पहले क्रिकेटर हैं।
  • सचिन तेंदुलकर ऐसे खिलाडी है जिनको भारत सरकार की तरफ से राजीव गांधी खेलरत्न, अर्जुन अवॉर्ड और पद्मश्री से सम्मानित किया गया है वो ऐसे एकमात्र क्रिकेटर हैं।
  • सचिन तेंदुलकर के प्रशंसक उन्हें भिन्न-भिन्न नामों से पुकारते हैं जैसे लिटिल मास्टर व मास्टर ब्लास्टर है।
  • सचिन अपनी फेरारी कार के इतने दीवाने हैं कि वो अपनी पत्नी को भी इसे चलाने नहीं देते है।
  • 1992 में सचिन सबसे कम उम्र में 1000 टेस्ट रन बनने वाले बल्लेबाज बन गए थे
  • 2014 में सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न के लिए नाम दिया गया ऐसे करने वाले वो सबसे कम उम्र के खिलाड़ी है।
  • दिवसीय और टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक सचिन तेंदुलकर के नाम है और साथ ही टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रन इन्ही के नाम है।

आँसुओं में पूरा भारत : Sachin Tendulkar A God Of Cricket

अपने टेस्ट डेब्यू के 24 साल बाद, 16 नवंबर, 2013 को, तेंदुलकर ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में टेस्ट क्रिकेट का आखिरी मैच खेलने उतरे। वेस्टइंडीज के खिलाफ उनका 200 वां टेस्ट मैच भारत वह खेल जीत लिया, क्और उस आखिरी खेल में सचिन ने ७४ रनों कि पारी खेली। वानखेड़े तब खामोश रह गए जब उन्हें स्लिप में कैच थमाया गया और उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा।

पर मैच में बाद लोगो को सचिन का संबोधन जैसे मनो लोग उसे कैद कर लेना चाहते थे क्यूंकि उसके बाद वह फिर से मैदान में सचिन सचिन जैसे उद्बोधन सुनने फिर दोबारा जीवन नहीं कभी नही मिलने वाला था. सभी कि आंखे नम थी. क्रिकेट जगत का हर व्यक्ति जिसे क्रिकेट से तनिक मात्र भी लगाव था वह उस आखिरी पल को स्टेडियम में जाकर तो कोई टेलीविजन पर तो कोइ मोबाइल पर देखा,

आप उनके इन दिए हुए आकड़ो से ही समझ सकते हो उनका कद क्रिकेट में कैसा था. सचिन के करोड़ों फैंस है जो उनके जन्म दिन को भी त्योहार की तरह मनाते हैं। सचिन तेंदुलकर ने 100 शतक, 163 अर्धशतक, 34,000 रन बनाये है उनका इतना बड़ा आंकड़ा देख कर पता चलता है कि वो कितने महान खिलाडी थे सचिन ने सभी रिकॉर्ड्स अपने नाम किये है। जब सचिन आउट हो जाते थे तो आधा हिंदुस्तान टीवी बंद कर देता था।

**************************************************

आपने इस post sachin tendulkar god of cricket के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है इसमे कुछ Sachin Tendulkar A God Of Cricket खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको Sachin Tendulkar A God Of Cricket जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

1 thought on “Sachin Tendulkar A God Of Cricket”

Leave a Comment