व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani

व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani

व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani
व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani

व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani

एक बार एक व्यापारी अपने ग्राहक को शहद बेच रहा था। तभी अचानक व्यापारी के हाथ से फिसलकर शहद का बर्तन गिर गया । बहुत सा शहद भूमि पर बिखर गया । जितना शहद ऊपर -ऊपर से उठाया जा सकता था उतना व्यापारी ने उठा लिया ।परन्तु कुछ शहद फिर भी जमीन पर गिरा रह गया ।

कुछ ही देर में बहुत सी मक्खियाँ उस जमीन पर गिरे हुए शहद पर आकर बैठ गयी । मीठा -मीठा शहद उन्हें बड़ा अच्छा लगा । वह जल्दी -जल्दी उसे चाटने लगी । जब तक उनका पेट भर नहीं गया वह शहद चाटती रही । जब मक्खियों का पेट भर गया और उन्होंने उड़ना चाहा , तो वह उड़ न सकी क्योंकि उनके पंख शहद में चिपक गए थे ।

एक शेर और एक गीदड़ Ek sher aur gidad ki kahani इस कहानी को भी पढ़े.

1001 Activities Book बच्चों के लिए यह बुक खरीदने के लिए क्लिक करे.

उडने के लिए उन्होंने बहुत कोशिश कि परन्तु वह फिर भी उड़ न पायी। वह जितना छटपटाती उनके पंख उतने चिपकते जाते। उनके सारे शरीर में शहद लगता जाता। काफी मक्खियाँ शहद में लोट -पोट होकर मर गयी। बहुत सी मक्खियाँ पंख चिपकने से छटपटा रही थी। परन्तु तब भी नई मक्खियाँ शहद के लालच में वहाँ आती रही। मरी और छटपटाती मक्खियों को देखकर भी वह शहद खाने का लालच नहीं छोड़ पायी।

मक्खियों की दुर्गती और मूर्खता देखकर व्यापारी बोला- जो लोग जीभ के स्वाद के लालच में पड़ जाते है ,वह इन मक्खियों के समान ही मुर्ख होते है। स्वाद के थोड़ी देर के सुख उठाने के लालच में वह अपने स्वास्थ को नष्ट कर देते है। रोगी बनकर तड़पते है और जल्द ही मर जाते है।

सीख: व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani इस कहानी में  लालच में फसने पर किसी का भला नहीं हुआ है, ऐसे लोग हमेशा नुकसान ही उठाते है.

****************************************

आपने इस post व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको व्यापारी व मक्खियाँ Vyapari Aur Makkhiyo ki Kahani की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

Leave a Comment