गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January

गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January

गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January
गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January

गणतंत्र दिवस एक सही मायने में कह सकते है पूर्ण आजादी. यह मैं इसलिए कह रहा हु क्योंकि २६ जनवरी के दिन ही भारत देश का गणतंत्र लागु हुआ था. भारत को भले ही १५ अगस्त १९४७ को आजादी मिल गयी थी परन्तु पूर्ण आजादी हमें २६ जनवरी १९५० को मिला. एक स्वतंत्र गणराज्य बनने के लिए भारतीय संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को संविधान अपनाया गया था, लेकिन इसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था.

डॉ. भीमराव अंबेडकर (B. R. Ambedkar) ने संविधान को दो साल, 11 महीने और 18 दिनों में तैयार कर राष्ट्र को समर्पित किया था. आपको बता दें कि हमारा संविधान विश्‍व का सबसे बड़ा संविधान माना जाता है. इसे बनाने वाली संविधान सभा के अध्यक्ष भीमराव अंबेडकर थे, जबकि जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे.

अब आप सोचेंगे यह गणतंत्र क्या होता है? गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January

भारत ने २६ जनवरी १९५० को भारत देश का स्वंय का संविधान लागु किया था. गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January

नेताजी सुभाषचंद्र बोस Netaji Subhash chandra Bose

अब आप सोचेंगे संविधान, यह संविधान क्या होता है?

संविधान का अर्थ है जिसमे देश का नियम कानून लिखा हो. जिसके जरिये देश का निति, कानून व्यवस्था बनाई जा सके, देश का प्रशासन चलाया जा सके. यह होता है संविधान. दुनिया के सबसे लंबे लिखित संविधान में 22 भागों में 395 लेख थे और प्रारंभ के समय 8 अनुसूचियां थीं। अब भारत के संविधान में २५ भागों और १२ अनुसूचियों में ४४ लेख हैं। भारतीय संविधान में अब तक 103 संशोधन किए गए हैं।

8 जनवरी, 2019 को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री श्री थावर चंद गहलोत द्वारा लोकसभा में संविधान (एक सौ चौदहवाँ संशोधन) विधेयक, 2019 पेश किया गया था। यह विधेयक आर्थिक रूप नागरिकों का कमजोर वर्ग से उन्नति प्रदान करने का प्रयास करता है।

गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January भारत का एक राष्ट्रव्यापी अवकाश है, जिसे 26 जनवरी को वार्षिक रूप से मनाया जाता है।

यह दिन भारत के संविधान की वर्षगांठ और 26 जनवरी, 1950 को एक गणतंत्र दिवस के रूप में भारत के परिवर्तन का जश्न मनाता है।

15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से आजादी मिलने के बाद, भारत की संरचना 26 जनवरी 1950 को भारत के दबाव में आने तक किंग जॉर्ज VI के नेतृत्व में हुई थी। इस दिन भारत को एक लोकतांत्रिक गणराज्य राष्ट्र के रूप में कहा जाता है।

गणतंत्र दिवस व्यापक रूप से पूरे भारत में एक उत्कृष्ट खुशी और उत्साह के साथ जाना जाता है। इस दिन हर 12 महीने पर नई दिल्ली में एक भव्य परेड आयोजित की जाती है। परेड रायसीना हिल से शुरू होकर राष्ट्रपति भवन, (राष्ट्रपति पैलेस) के पास, राजपथ, इंडिया गेट के साथ और लाल किले पर शुरू होती है। सेना, वायु सेना और नौसेना की पूरी तरह से अलग-अलग रेजिमेंटें परेड के भीतर अपनी सभी बारीकियों और आधिकारिक सजावट के साथ भाग लेती हैं। भारत के राष्ट्रपति, जो भारतीय सशस्त्र बलों के कमांडर-इन-चीफ हैं, राष्ट्र को सलाम करते हैं और संबोधित करते हैं।

इस दिन भारतीय गर्व से अपना तिरंगा झंडा फहराते हैं, “वंदे मातरम”, “जन गण मन” जैसे देशभक्ति गीत गाते हैं और उन सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं जिन्होंने भारत को स्वतंत्रता दिलाने के उद्देश्य से अपने प्राणों की आहुति दी थी।

गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

  • गणतंत्र दिवस परेड राष्ट्र के भीतर राजपथ पर आयोजित की जाती है। परेड आठ किलोमीटर की होती है और रायसीना हिल से शुरू होती है। उसके बाद राजपथ, इंडिया गेट के रास्ते, यह लाल किले पर समाप्त होता है।
  • 26 जनवरी 1950 को, प्राथमिक गणतंत्र दिवस परेड राजपथ के स्थान पर इरविन स्टेडियम (अब नेशनल स्टेडियम) में हुई। उस समय, इरविन स्टेडियम में कोई बाउंड्री वॉल नहीं थी और इसके पीछे लाल किला स्पष्ट रूप से देखा गया था।
  • भारत के संविधान को 26 जनवरी 1950 को सुबह 10.18 बजे लागू किया गया था।
  • पूर्ण स्वराज दिवस (26 जनवरी 1930) को ध्यान में रखते हुए, भारत का संविधान 26 जनवरी को लागू किया गया था।
  • देशव्यापी गान के जरिए 21 तोपों की सलामी दी जाती है। यह 21- तोपों की सलामी राष्ट्रव्यापी गान के पहले शुरू होती है और 52 सेकेंड के राष्ट्रगान के पूरा होने के साथ समाप्त होती है।
  • हर साल गणतंत्र दिवस पर राज्यों की झाकियां निकलती हैं, जिसका टीवी पर लाइव प्रसारण भी किया जाता है. गणतंत्र दिवस के मौके पर खासतौर पर झाकियां देखने के लिए कई लोग इंडिया गेट भी जाते हैं. 
  • इसके साथ ही गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January के अवसर पर वीरता पुरस्कार भी दिए जाते हैं. 

जय हिन्द

*****************************************************

आपने इस post गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

.

3 thoughts on “गणतंत्र दिवस २६ जनवरी Republic Day 26 January”

Leave a Comment