Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश

Table of Contents

Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश

शेर और खरगोश Sher aur Khargosh ki Kahani
Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश

Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश

एक जंगल में एक शेर रहता था। एक दिन उसे बहुत भूख लगी। वह गुफा से बाहर आया और किसी जानवर की तलाश करने लगा। यहाँ वहां भोजन कि तलाश में उसे दूर एक पेड़ के नीचे एक खरगोश दिखाई दिया। वह पेड़ की छाया में मज़े से खेल रहा था। शेर कि नजर उसपर पड़ती है, शेर खरगोश को पकड़ने के लिए आगे बढ़ा। खरगोश ने शेर को अपनी ओर आते हुए देखा, तो वह जान बचाने के लिए भागने लगा।

लालची मख्खी Lalchi Makkhi ki Kahani

शेर ने उसका पीछा किया और लपककर उसे धर दबोचा। शेर को बहुत तेज भूख लगी थी इसलिए शेर तुरंत खरगोश ओ खाना चाहता था. शेर ने ज्यों ही मारने के लिए पंजा उठाया कि उसकी निगाह हिरन पर पड़ी। उसने सोचा कि इस नन्हे खरगोश से मेरा पेट नहीं भर सकता। इससे तो हिरन ही अच्छा रहेगा। शेर ने खरगोश को छोड़ दिया। खरगोश मौका पाते ही वहां से भाग निकला, शेर हिरन का पीछा करने लगा।

हिरन ने शेर को देखा, तो जोर -जोर से छलांग लगाता हुआ भाग खड़ा हुआ। शेर पहले से ही बहुत थक चूका था और भूख भी लगा था, शेर हिरन को नहीं पकड़ सका। उसके पीछे भागते -भागते शेर थककर चूर हो गया। अंत में उसने हिरन का पीछा करना छोड़ दिया।

खरगोश भी हाथ से गया और हिरन भी उसे नहीं मिला। अब शेर खरगोश को छोड़ देने के लिया पछताने लगा।

सीख: हमें हमेशा जो मिले उसमे संतुष्ट रहना चाहिए. अधिक पाने के प्रलोभन में नहीं पड़ना चाहिए नहीं तो शेर कि ही तरह हम पछताने के आलावा कुछ नहीं कर पाएंगे.

Moral Story lalachka fal story hindi me kahaniyan

Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश kahani hindi mein

sher aur sher sher aur kharagosh kee kahaanee

ek jangal mein ek sher rahata tha. ek din use bahut bhookh lagee. vah gupha se baahar aaya aur kisee kee talaash karane laga. yahaan vahaan bhojan ki talaash mein use door ek ped ke neeche vanabhoomi dikhaee dee. vah ped kee chhaaya mein maze se khel raha tha. sher ki najar us padanevaala padatee hai, sherapatr ko pakadane ke lie aage badha. kharagosh ne sher ko apanee or aate hue dekha, to vah jaan bachaane ke lie daud lagaee.

sher ne usaka peechha kiya aur lapakakar use dabocha tak pahuncha diya. sher ko bahut tej bhookh lagee thee isalie sher turant kharagosh par khaana chaahata tha. sher ne jyon hee maarane ke lie panja uthaaya ki usakee nigaah hiran par padee. usane socha ki yah nanhepatr se mera pet nahin bhar sakata. isase to hiran hee achchha rahega. sher netar ko chhod diya. kharagosh mauka paate hee vahaan se bhaag nikala, sher hiran ka peechha karane laga.

hiran ne sher ko dekha, to jor -jor se chhaling lagaata hua bhaag khada hua. sher pahale se hee bahut thak chooka tha aur bhookh bhee lagee thee, sher hiran ko nahin pakad saka. usake peechhe bhaagate-vibhaagate sher thakakar choor ho gae. ant mein unhonne hiran ka peechha karana chhod diya.

kharagosh bhee haath se gaya aur hiran bhee use nahin mila. ab sinhabhoomi ko chhod dene ke lie pachhataane laga.

Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश kahani hindi mein

seekh: hamen hamesha jo mile them santusht rahana chaahie. adhik paane ke pralobhan mein nahin padana chaahie to sher nahin ki usee tarah ham pachhataane ke aalaava kuchh nahin karenge.


आपने इस post Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश kahani hindi mein के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा। और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके। जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े।

यदि आपको लगता है Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश kahani hindi mein इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है।

और यदि आपको Sher aur Khargosh ki Kahani शेर और खरगोश kahani hindi mein की जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है।

Leave a Comment