What is Computer कंप्यूटर क्या है

What is Computer कंप्यूटर क्या है

What is Computer कंप्यूटर क्या है
What is Computer कंप्यूटर क्या है

Computer को हिंदी में संगणक कहते है. संगणक का अर्थ है संख्या कि गणना करना पर अब हम कह सकते है गणना को संचित मतलब सहेज कर रखना.

What is full form of Computer?

Computer Full Form

Conmanly operated Machine particularly used for training Education and Research.

What is Computer कंप्यूटर क्या है

What is computer system?

what is computer systemसरल वाक्यों में हम कह सकते हैं कि कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो हमें डेटा को संसोधित करने और इसे उसकी स्मृति में संग्रहीत करने के काम को आसान बनाने में मदद करता है। नवीनतम कंप्यूटर ध्वनि और फिल्मों के रूप में डेटा या सूचना का उत्पादन और पुन: निर्माण भी कर सकते हैं। और इसे सामान्य रूप दे सके तो यह कि यह एक इलेक्ट्रोनिक उपकरण है जो बिजली पर चलती है.

Roman Abacus
Roman Abacus

कहा जाता है 400 bc पूर्व computer कि उत्पत्ति हुए. पर वह computer नहीं था एक सामान्य तौर पर कह सके तो कैलकुलेटर Abacus जिसे सामान्य गणनाओं के लिए तैयार किये उसके बाद निरंतर नए खोज ने सन 1820-34 में पहला कंप्यूटर निर्मित हुआ जिसके निर्माता चाल्स बेबेज Charles Babbage थे इन्हें father of computer भी कहा जाता है. इसके बाद कंप्यूटर के निर्माण प्रणाली में और बदलाव अबतक हो रहा है विभिन्न नए खोज और विज्ञान ने मनो computer को मनुष्य के दिमाग से भी आगे बाद गया है.

charles babbage
charles babbage
Charles Babbage Computer Design
Charles Babbage Computer Design

What are the capabilities of a computer?

कंप्यूटर की क्षमताएं क्या हैं?

  • कंप्यूटर द्वारा किया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण काम यह है कि यह किसी भी प्रारूप में उपयोगकर्ता की आवश्यकता के अनुसार संग्रहीत जानकारी का उपयोग, प्रक्रिया, या पुन: उत्पादन कर सकता है।
  • यह बहुत तेज गति से सबसे सटीक तरीके से अंकगणितीय संचालन कर सकता है।
  • इसके अंदर की जानकारी को स्टोर करने का काम कंप्यूटर कर सकता है। यह संसोधित जानकारी के परिणाम को संग्रहीत कर सकता है ताकि भविष्य में उस जानकारी को उपयोग किया जा सके।
  • यह किसी भी जानकारी को वर्षो तक सुरक्षित और व्यवस्थित रख सकता है.

Advantages of computer– uses of computer

कंप्यूटर कि विशेषताए :

सटीकता Accuracy : – कंप्यूटर बहुत कम समय के भीतर डेटा के प्रसंस्करण का सबसे सटीक परिणाम देता है। मनुष्य द्वारा की गई गणना में कोई कई खामियां हो सकता है, लेकिन कंप्यूटर कभी भी गणना या सूचना के प्रसंस्करण में न के बराबर गलती करता है।

गति Speed : – कंप्यूटर विशेष सूचना और तकनीक पर काम करता है और इस वजह से, इसके संचालन में एक जबरदस्त गति मिली है। इसे हम ऐसे समझ सकते है computer लाखो के सवालों के जवाब करीब २ से ३ सेकण्ड में दे सकता है.

भंडारण क्षमता Storage Capacity: – यह किसी भी जानकारी को 1000 वर्षो तक सुरक्षित और व्यवस्थित रख सकता है. और आवश्यकता के अनुसार इसकी संचित करने कि क्षमता को बढाया भी जा सकता है.

कार्यात्मक कार्य Functional Work: – computer बिना रुके बिना गलती के तरह तरह के कामो को आसानी से हल कर सकता है. इसका एक सामान्य उदहारण है Online Exam, Bank ATM, Railway Ticket यह सभी सठिक तरीके से इतने लोगो के इस्तेमाल के बावजूद भी आसानी से काम करता है.

बहुमुखी प्रतिभा Versatility: – यह कई प्रकार के कार्य कर सकता है, जैसे कि हम गणना उद्देश्य के लिए उपयोग कर सकते हैं, संगीत चलाने या स्थानांतरित करने के लिए, डेटा स्टोर करने के लिए, आदि.

Generation of Computers – History of computer hindi

कंप्यूटर की पीढ़ी

Computer कि पहली पीढ़ी :- 1946 से 1959 के करीब First Generation of Computer

1946 से 1959 के करीब computer कि पहली पीढ़ी मानी जाती है. इस पीढ़ी के computer को vaccum tube से बनाया गया था. जो आकर में बहुत ही बड़ा था. यह आकर करीब २२ फुट लम्बा और १६ फुट चौड़ा एक सिनेमा हाल के आकर का बताया जाता है. इसकी गति एक धीमी थी, और साथ ही साथ इससे निकलने वाली उर्जा अधिक था जिससे काम करना मुश्किल माना जाता था. इसे तैयार तो कर लिया गया परन्तु इसके दाम के कारण और इसकी गति, जैसी खामियों के कारण व्यापर में और दुनिया के बाजार में अधिक समय तक नहीं चला. इसे (ENIAC-Electronic Numerical Integrator And Computer) नाम से जाना जाता था जिसका आविष्‍कार सन् 1904 John Ambrose Fleming ने किया था 

First Generation of Computer
First Generation of Computer
Vacuum Tube
Vacuum Tube

२. Computer कि दूसरी पीढ़ी :- 1959 से 1965 के करीब Second Generation of Computer

संभवत: इस computer कि खामियों में बदलाव किया गया और दूसरी पीढ़ी 1959 से 1965 के करीब मानी जाती है. विलियम शॉकले (William Shockley) ने ट्रॉंजिस्‍टर का आविष्‍कार सन् 1947 में किया था जिसके बाद इस पीढ़ी के computer को transistors से बनाया गया था. पहले के मुकाबले इसकी क्षमता में बहुत बदलाव आया इसकी निकलने वाली उर्जा कम हुई. आकार में भी काफी बदलाव आया. हम यह कह सकते है कि दूसरी पीढ़ी कि computer पहली पीढ़ी के computer से बेहतर था. इसी समय COBOL एवं FORTRAN जैसी उच्‍चस्‍तरीय प्रोग्रामिंग भाषाओं का विकास हुआ.

Second Generation of Computer
Second Generation of Computer
Transistors
Transistors

3. Computer कि तीसरी पीढ़ी :- 1965 से 1970 के करीब Third Generation of Computer

Integrated Circuit का आविष्‍कार टेक्‍सास इन्‍स्‍ट्रमेंन्ट कम्‍पनी (Texas Instrument Company) के एक जैक किल्‍बी (Jack Kilby) ने किया था। यह computer पुरे दुनिया के computer जगत को बदल डाला , इसे IC’s (Integrated Circuit) से बनाया गया जिसके कारण यह एक समय आकार में बन पाया, साथ ही साथ इसके speed गति पहले कि तुलना में काफी अच्छी थी,

तकनिकी विकास ने निरंतर बदलाव होते रहे और यही बदलाव computer में निरंतर होते रहे. वैज्ञानिक यहीं नहीं रुके, इसमें आज कि बीसवीं शताब्दी में भी बदलाव हो रहा है.

Third Generation of Computer
Third Generation of Computer
ic Third Generation of Computer
ic Third Generation of Computer

4. Computer कि चौथी पीढ़ी :- 1970 से 2000 के करीब Fourth Generation of Computer

इस पीढ़ी के computer को  Microprocessor से बनाया गया जिसने computer कि दुनिया ही बदल दी, इसके बाद computer के इस्तेमाल में बहुत तेजी आया करीब करीब अब पूरी दुनिया computer कि आवश्यकता को महसूस करना लगा और इसकी महत्त्वपूर्ण बात थी इस पीढ़ी कि computer का आकार, गति, और कम उर्जा खपत. Microprocessor IC (Integrated Circuit) से ही बनाया गया था. एक Integrated Circuit करीब 300000 transistors के सामान कार्य करता है इस तरह इस तकनीक को विकसित कर Large Integrated Circuit जिसे Microprocessor नाम दिया गया.

पहला पहला माइक्रो कम्‍प्‍यूटर ALTAIR 8800 को MITS नामक कंपनी ने बानाया था. इसी computer कि सहायता से माइक्रोसॉफ्ट के निर्माता Bill Gates ने अपना BASIC program को विकसित किये.

Fourth Generation of Computer
Fourth Generation of Computer
microprocessor
microprocessor

5. Computer कि पांचवी पीढ़ी :- 2000 से अब तक के करीब Fifth Generation of Computer

यह पीढ़ी वाली बात अब कुछ हद तक समय के अनुसार बता पाना संभव नहीं रहा है, तकनिकी विकास ने इतनी तरक्की कर लिए है कि अब साल २ साल भी नहीं होते बाजार में computer और technology में नए नए आविष्कार देखने को मिलने लगा है, चाहे इसमें A.I (Artificial intelligence) हो या robotics इत्यादी. इन चीजों ने computer कि एक नई दुनिया ही विकसित कर दी है.

Fifth Generation of Computer
Fifth Generation of Computer
AI Technology
AI Technology

AI Technology में रोबोट, मेडिकल ऑपरेशन, ड्राईवर लेस कार, 3D प्रिंटर, Smart फ़ोन, Laptop, Visual Effect जैसे अनगिनत उदहारण देखने को मिलते है, और ऐसा माना जा रहा है ये computer आगे के भविष्य को एक दम बदल देंगे. जिसकी कल्पना ही कर सकते थे. पर अब उन कल्पनाओ को असल जिन्दगी में उतरा जाने लगा है.

What is Computer कंप्यूटर क्या है में आपने जाना की कंप्यूटर क्षेत्र में आये क्रांति और न जाने कंप्यूटर के क्षेत्र अब भविष्य में और क्या काया पलट होता है.

MS Word Related Tutorial Click Here

सरकारी नौकरी के लिए आवेदक के पास CCC, MSCIT जैसे कोर्स के सर्टिफिकेट कि जरुरत होती है जो computer बेसिक से सम्बंधित है ऐसे कोर्स के आवेदन के लिए इस दिए लिंक पर क्लिक करें. जिसमे आवेदक को What is Computer कंप्यूटर क्या है, ms office जैसे software सिखाये जाते है.

mkcl

**********************************************************************************

आपने इस post What is Computer कंप्यूटर क्या है के माध्यम से बहुत कुछ जानने को मिला होगा. और आपको हमारी दी गयी जानकारी पसंद भी आया होगा. हमारी पूरी कोशिश होगी कि आपको हम पूरी जानकारी दे सके.जिससे आप को जानकारियों को जानने समझने और उसका उपयोग करने में कोई दिक्कत न हो और आपका समय बच सके. साथ ही साथ आप को वेबसाइट सर्च के जरिये और अधिक खोज पड़ताल करने कि जरुरत न पड़े.

यदि आपको लगता है What is Computer कंप्यूटर क्या है इसमे कुछ खामिया है और सुधार कि आवश्यकता है अथवा आपको अतिरिक्त इन जानकारियों को लेकर कोई समस्या हो या कुछ और पूछना होतो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

और यदि आपको What is Computer कंप्यूटर क्या है जानकरी पसंद आती है और इससे कुछ जानने को मिला और आप चाहते है दुसरे भी इससे कुछ सीखे तो आप इसे social मीडिया जैसे कि facebook, twitter, whatsapps इत्यादि पर शेयर भी कर सकते है.

धन्यवाद!

Leave a Comment